Menu
  • News paper
  • Video
  • Audio
  • CONTACT US
  •    01 November 2019 8:28 AM

    ज्ञानपंचमी

    कार्तिक सुदी पंचमी,आज ज्ञानपंचमी है, सम्यग् ज्ञानपद के दोहे…

    ज्ञानपंचमी के दिवस पर आपके
    बच्चों को ज्ञान की पूजा और निम्न
    लिखित दोहो से आराधना कराये…

    (1) समकित श्रद्धावंतने,
    उपन्यो ज्ञान प्रकाश
    प्रणमु पदकज तेहना,
    भाव धरी उल्लास !!

    ” ॐ ह्रिॅ श्रीॅ मतिज्ञानाय नमो नम: ”

    इच्छामि खमासमणो ! वंदिउं जावणिज्जाए निसिहीआए मत्थएण वंदामि.

    (2) पवयण श्रुत सिध्धांतने,
    आगम समय वखाण
    पुजो बहुविध रागथी,
    चरण कमल चित्त आण !! 

    ” ॐ ह्रिॅ श्रीॅ श्रृतज्ञानाय नमो नम: ”

    इच्छामि खमासमणो ! वंदिउं जावणिज्जाए निसिहीआए मत्थएण वंदामि.

    (3) उपन्यो अवधिज्ञाननो,
    गुण जेहने अविकार,
    वंदना तेहने माहरी,
    श्वास मांहे सो वार !!

    ” ॐ ह्रिॅ श्रीॅ अवधिज्ञानाय नमो नम: ”

    इच्छामि खमासमणो ! वंदिउं जावणिज्जाए निसिहीआए मत्थएण वंदामि.

    (4) ए गुण जेहने उपन्यो,
    सर्व विरति गुणखाण !
    प्रणमुं हितथी तेहना,
    चरण कमल चित्त आण !!

    ” ॐ ह्रिॅ श्रीॅ मन:पर्यवज्ञानाय नमो नम: ”

    इच्छामि खमासमणो ! वंदिउं जावणिज्जाए निसिहीआए मत्थएण वंदामि.

    (5) केवल दंसण नाणनो,
    चिदानंद घन तेज !
    ज्ञान पंचमी दिन पूजीये,
    विजय लक्ष्मी शुभ हेज !!

    ” ॐ ह्रिॅ श्रीॅ केवलज्ञानाय नमो नम: ”

    इच्छामि खमासमणो ! वंदिउं जावणिज्जाए निसिहीआए मत्थएण वंदामि

    ***********

    हे शारदे माँ
    हे शारदे माँ
    अज्ञानतासे हमे तार दे माँ

    तू स्वर की देवी ये संगीत तुझसे
    हर शब्द तेरा हर गीत तुझसे
    हम है अकेले हम है अधूरे
    तेरी शरण मे हमे प्यार दे माँ
    हे शारदे माँ

    मुनियो ने समझी गुणियों ने जानी
    आगम की भाषा जिनवर की वाणी 
    हम भी तो समझे हम भी तो जाने 
    विद्या का हमको अधिकार दे माँ
    है शारदे माँ

    तू श्वेत वर्णी कमलपे विराजे
    हाथों में वीणा


    STAY CONNECTED

    FACEBOOK
    TWITTER
    YOUTUBE