Menu
  • News paper
  • Video
  • Audio
  • CONTACT US
  • Viresh Shah   10 April 2019 4:52 PM

    आयम्बिल तप नहीं होता ? कोई तकलीफ होती है ?

    प.पू.तपस्वीरत्न श्री.हेमवल्लभसूरीश्वरजी.म.सा.के पावन चरणों में कोटि कोटि वंदन

    आयम्बिल तप नहीं होता ? कोई तकलीफ होती है ?
    मन नहीं मानता ? 
    तो 1 बार तपस्वी महात्मा के दर्शन कीजिये उनके अखंड आयम्बिल तप की अनुमोदना कीजिये
    आपका आयम्बिल तप आसानी से हो जाएगा

    तन मन से निकाल फेंका हैं जिसने राग

    सभी विग्गई का जिनको है जीवनभर का त्याग

    मिठाई - फरसाण - सब्जियां - फल - ड्रायफ्रूट - दूध - दही - घी - तेल - गुड़ - साखर सब कायमी उनसे दूर गए है भाग

    धन्य धन्य जिनशाशन धन्य धन्य मुनिवरा
    दर्शन करलो ऐसे महान तपस्वी रत्न का इस भव में
    शायद पारणा होगा महात्मा का अगले भव में

    गिरनारजी की यात्रा प्रभु दर्शन करने के बाद लगभग 3 बजे गोचरी वापरना
    रबारी के यहां गोचरी लेने जाना रूखा सुखा रोटला
    जो मिले वो वापरना कोई अन्य माँग नही

    ऐसे महात्मा की तप कि अनुमोदना और दर्शन करने मात्र से कर्म खपेंगे
    इस धरती पर हमें फिर ऐसे अदभुत निरागी तपस्वी कहाँ देखने मिलेंगे

    अनुमोदना अनुमोदना अनुमोदना वारंवार हजार वार


    STAY CONNECTED

    FACEBOOK
    TWITTER
    YOUTUBE