Menu
  • News paper
  • Video
  • Audio
  • CONTACT US
  • प्रीति शाह    29 October 2017 8:59 AM

    जिन पूजा क्या हैं ?

    जिन पूजा यह जिन गुण पूजा हैं,
    जिन पूजा दुर्गति से रक्षण के लिए हैं,
    जिन पूजा वस्तु स्वरूप की रूचि जगाती है,
    जिनपूजा यानी स्व आत्मा का अभयदान,
    जिन पूजा यानी सर्वोत्कृष्ट सुपात्र को दान यानी सुपात्र दान,
    जिन पूजा यानी सूक्ष्म एवं स्थूल शील,
    जिन पूजा यानी प्रमोद भाव,
    जिन पूजा यानी परमात्म तत्व का गुणानुराग, 
    जिन पूजा यानी उन परम योगी के प्रति आदर भाव व्यक्त करना,
    जिन पूजा यानी संसार के उत्तम द्रव्यों को जिनेश्वर को समर्पित कर सर्वोत्तम परमात्मा का स्थान मन में उन द्रव्यों से अधिक हैं इस बात की सहज अभिव्यक्ति ।

    जिन पूजा मोक्ष के लिए की जाती हैं ।
    मोक्ष मतलब पूर्ण अहिंसा ,
    मोक्ष मतलब अनंतकाल के लिए १४ राज लोक के जीवो को अभयदान,
    मोक्ष मतलब अनंतकाल के लिए धर्म में स्थिर होना ।

    *जब डोक्टर पेशेंट के इलाज के लिए उसे पीडा देता वह भी जानते हुए पर उसका भाव पेशेंट को दुरूस्त करना, स्वस्थ करना, उसकी की पीडा मिटाना होता हैं । डाक्टर का हिंसा करना बडी अहिंसा के लिए होने के कारण अहिंसा कहलाता हैं(कार्य का कारण में उपचार)*
    *उसी तरह जिन पूजा में होती अति अल्प हिंसा, उस पूर्ण अहिंसा के लिए हैं इसीलिए उपचरित व्यव्हारनय(result अच्छा होना) से और निश्चय नय(आत्मा में पीडा पहुँचाने का भाव न होना) दोने से ये अहिंसा ही हैं ।


    STAY CONNECTED

    FACEBOOK
    TWITTER
    YOUTUBE