Menu
  • News paper
  • Video
  • Audio
  • CONTACT US
  • Amritlal Jain   25 October 2017 8:28 AM

    ज्ञान पंचमी की आराधना.

    ज्ञान का दान ही सबसे बड़ा दान है,
    जिसको कोई ना लुटे ।
    ज्ञान का रिश्ता सच्चा रिश्ता,
    बाकी रिश्ते झूठे ।।

    जो ज्ञान दान दे जाता है, 
    वह जग में अमर कहलाता है ।।

    अज्ञानी का जीवन ऐसे, 
    दीप बिना मोती जैसे
    घर घर में दीप जलाये
    ज्ञान की ही ज्योति के
    अपने लिए गुरु विधाता है जो
    जग में अमर कहलाता है ।।

    सब धर्मों का पालन कीजिये
    मानवता कहती है
    किसी एक की नहीं यह गंगा
    सब के लिए बहती है
    यह जल जीवन महकता है
    और मन पावन हो जाता है
    जो ज्ञान दान दे जाता है, 
    वह जग में अमर कहलाता है ।।

    उनका जीना क्या जीना जो
    अपने लिए जीते है
    एक दूजे का सुख दुःख बांटे 
    एक दूजे के लिए है
    जो औरों के काम आता है 
    वह जीवन का सुख पाता है ।
    जो ज्ञान दान दे जाता है, 
    वह जग में अमर कहलाता है ।।

    माली के जाने से गुलशन 
    सुना हो जायेगा 
    लेकिन हर बहार का मौसम 
    रंग नए लाएगा
    कोई आता है तो कोई जाता है
    यूँ वक़्त गुजरता जाता है
    जो ज्ञान दान दे जाता है,
    वह जग में अमर कहलाता है ।

    भजन, स्तवन, कविता, सज्जाई आदि... प्रभु की वाणी से जुड़ने का सर्वाधिक सुगम मार्ग है, मन सरलता से एकाग्रहित हो जाता है । कुछ पल भी अगर हमारा मन वीतराग प्रभु की आराधना में लग जाय... तो जन्मों जन्म के पापकर्म क्षय हो सकते है । हम पुण्यकर्म बंध की ओर अग्रसर हो सकते है l

    ज्ञान वडूं संसार मां, ज्ञान परम् सुख हेत,
    ज्ञान विना जग जीवड़ा, न लहे तत्व संकेत l
    ज्ञान आत्मा का मौलिक गुण है, ज्ञानावर्णीय कर्म के कारण यह गुण आवरण वाला हो गया है - यह आवरण दूर होते ही आत्मा अपने मूल गुण युक्त प्रकट हो जाती है ।  सम्यग् ज्ञान आत्मा के लिए कितना आवश्यक है उसका स्पष्टीकरण आगम में कहा है - "पढमं नाणो तओ दया" "प्रथम् ज्ञान ने पछी अहिंसा" अर्थात् प्रथम् ज्ञान और बाद में महाव्रत, व्रत, नियम आदि l जैनागमों में धर्म को सूक्ष्म बुद्धि से करने का विधान है, स्थूल बुद्धि से किया जाने वाला धर्म - अधर्म के खाते में चला जाता है, अत: सम्यग् ज्ञान को जानना प्रथम आवश्यक है l शुभम् अस्तु ।।
     जैनिज्म : सद्-गति से परम्-गति की ओर


    STAY CONNECTED

    FACEBOOK
    TWITTER
    YOUTUBE