Menu
  • News paper
  • Video
  • Audio
  • CONTACT US
  • Pooja Chhajer Jain   27 September 2017 5:45 PM

    संसार को असार मान संयम पथ पर अग्रसर नगर का होनहार युवा मुमुक्षु लोकेश गोलछा

    जगदलपुर(छ. ग.), 19 सितंबर- आत्मा का कल्याण कर परमात्मा बनाना निश्चय ही कठिन है किन्तु असंभव नहीं इसी भावना से वसीभूत हो नगर का होनहार युवा मुमुक्षु लोकेश गोलछा संयम पथ पर अग्रसर है | आज के समय में जब युवा टेलीविजन, मोबाइल, इन्टरनेट आदि भौतिक सुखों को प्राप्त करने भागते है और धर्म के सत्य के मार्ग से विमुख हो रहे है वहीँ मुमुक्षु लोकेश जैसे बिरले युवा इन भौतिक सुखों को नरक का द्वार मानते हुए परित्याग करते हुए आगामी १५ नवम्बर को बाड़मेर जिले के चौहटन स्थित लाब्धिनिधान पार्श्वनाथ तीर्थ परसर में खरतरगच्छ आचार्य श्री जिनपीयूषसागर सूरीश्वरजी से संयम जीवन अंगीकार कर अपना जीवन आचार्यश्री को समर्पित करेंगे |
    जीवन परिचय
    स्व. सांगीलाल एवं स्व. श्रीमती कुसुम देवी गोलछा के तीन पुत्र एवं एक सुपुत्री में सबसे छोटे सदा ही पढाई में मेघावी रहे व्यवहारिक शिक्षा के अंतर्गत डिप्लोमा इन विजुअल एंड ई मिडिया का सर्टिफिकेट प्राप्त किया तथा वेब डिजाईन एवं ग्राफिक डिज़ाइनर मुमुक्षु लोकेश सन 2010 में जगदलपुर चातुर्मास हेतु पधारे मुनि श्री पियूष सागर जी तथा मुनि श्री सम्यकरत्न जी के संपर्क में आये और धर्म के मर्म को समझ इसी मार्ग पर अग्रसर हो गए तब से निरंतर गुरुदेव जहाँ भी रहे उनके साथ धार्मिक अध्यन करते रहे साथ निरंतर स्वाध्याय एवं जपतप करते रहे और अपने संयम जीवन की भावना को पुष्ट करते रहे मुमुक्षु लोकेश की संयम जीवन के प्रति अगाध आस्था को देखते हुए परिजनों ने गत 2 दिसंबर को बाड़मेर में चातुर्मास हेतु विराजित आचार्य श्री जिन पियूष सागर जी म.सा. के पास जाकर मुमुक्षु लोकेश को दीक्षा देने का निवेदन किया परिजनों और मुमुक्षु लोकेश को आग्रह को दृष्टिगत रखते हुए आचार्य श्री ने आगामी १५ नवम्बर को मुमुक्षु लोकेश के दीक्षा कार्यक्रम की घोषणा की दीक्षा की स्वीकृति मिलते ही लम्बे समय से इस दिन का इंतजार कर रहे लोकेश झूम उठे |


    STAY CONNECTED

    FACEBOOK
    TWITTER
    YOUTUBE