Menu
  • News paper
  • Video
  • Audio
  • CONTACT US
  • शाह प्रीति   11 August 2017 8:28 PM

    अब्दुल अजीज राजपूत, एक व्यक्तित्व जो जुड़ा है पुरातत्व से, कुछ दिनों से ये गुलबर्गा जिले में जैन मंदिरो के दौरे पर हैं

    भंकुर गाँव में एक ग्रामीण के घर में पार्श्वनाथ भगवान जी की प्रतिमा घर की दीवार में चुनी देख तो उनसे रहा नहीं गया और उन्होंने उस ग्रामीण से बहुत मिन्नत की, पहले भी बहुत लोग प्रयास कर चुके थे लेकिन उस ग्रामीण ने किसी को भी वो प्रतिमा नहीं लेने दी, अब्दुल जी के कहने पर वो एक छोटा सा मंदिर बनवाने तैयार हो गया |
    अब्दुल जी से बात की तो उन्होंने बताया की, इतनी सुन्दर प्रतिमा जी की इतनी बुरी दशा देखकर आंसू आ गए | उन्होंने अपने मुसलमान भाइयों से निवेदन किया कि, जात-पात भूलकर अपने पूर्वजों की सम्पदा बचाओ | उन्होंने काफी जैन संगठनो से संपर्क किया, लेकिन निराशा के अलावा कुछ हाथ नहीं लगा | कल रात को उन्हें नींद नहीं आ रही थी, सोच रहे थे मंदिर बनवाने के लिए आर्थिक इंतजाम कैसे करेंगे, इसी बीच उन्हें फ़ोन करके हमारे और जैनसमूह की तरफ से १ लाख रुपये एक छोटे मंदिर निर्माण के लिए कह दिए तो उनकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा | यहाँ तक की उनके मुसलमान संप्रदाय के किसी कार्यक्रम में उन्होंने छोटे जैन मंदिर के लिए पैसा इकठ्ठा करने की सोच ली


    STAY CONNECTED

    FACEBOOK
    TWITTER
    YOUTUBE